जीवन का आधार: रिश्ता/ दौलत

  पैसा ही सब कुछ………

कहते है आज के युग में हर व्यक्ति को पढ़ना चाहिए, ताकि वो अपने भविष्य में किसी और पर निर्भर न रहे| शिक्षा के चलते लड़के और लड़की का कमाने जाने वाला भेद भी ख़त्म हो गया है |

 

लेकिन कई बार दिमाग में एक प्रश्न आता है जिसका कोई उत्तर नहीं मिल पा रहा है|

” क्या वो अंतर ख़त्म हो जाना ठीक है या हम किसी नयी चुनौती को या नए खतरे को दस्तक दे रहे है?”

खतरा इसलिए नहीं की आज की पीड़ी आज़ाद हो गयी बल्कि इसलिए की अब ” सात जन्मो का रिश्ता – शादी ” भी इसी तर्ज़ पर होने लगे है| लड़का, लड़की की शिक्षा के आधार पर, उसकी मार्केट में चल रही महत्ता को आधार बना कर, वो कितना कमा कर दे सकती है या लड़की के पिता दहेज़ में कितनी दौलत दे सकते है, के तर्ज़ पर हां करता है|

वही लड़की, लड़के की पोजीशन, सैलरी, शहर देख कर हां करती है ताकि वो अपनी हर ज़िम्मेदारी से मुक्त रहे, और  स्वछंद जीवन जी कर अपनी खुशिया पा सके|

इन सब में भावनाये, सत्यता और प्यार की महत्ता कही खो सी गयी है, जिन्हे सिर्फ दौलत की तर्ज़ पर तौला जाता है, पैसो के मापदंड में मापा जाता है, और रिश्तो के तराज़ू में रख कर पैसो से बैलेंस किया जाता है|

अभी भी प्रश्न वही है दौलत से रिश्तो का मापदंड उचित या अनुचित ?

डॉ. सोनल शर्मा

 

 

 

 

 

 

 

8 thoughts on “जीवन का आधार: रिश्ता/ दौलत

  1. Thank you for every one of your hard work on this web page. My aunt really loves making time for investigations and it’s really obvious why. Most of us learn all of the lively mode you offer priceless suggestions through this web site and even increase participation from some other people on the matter so our favorite girl is now starting to learn a lot of things. Take advantage of the rest of the year. You are always doing a remarkable job.

  2. I’m also commenting to let you be aware of of the cool discovery my child encountered checking your blog. She came to understand a wide variety of details, most notably how it is like to have a marvelous coaching heart to get folks easily fully grasp a variety of complicated matters. You actually did more than my desires. I appreciate you for delivering such good, dependable, edifying and also cool guidance on that topic to Evelyn.

  3. I am extremely inspired with your writing talents and also with the
    format on your blog. Is this a paid theme or did you customize it your self?
    Either way keep up the nice high quality writing, it is uncommon to see a great weblog like this one these days..

  4. Good day! This is kind of off topic but I need
    some guidance from an established blog. Is it difficult to set up
    your own blog? I’m not very techincal but I can figure things out pretty quick.
    I’m thinking about setting up my own but I’m not sure where to begin.
    Do you have any ideas or suggestions? Thanks

Leave a Reply

Your email address will not be published.